छत्तीसगढ़देश/राष्ट्रीयबिज़नेस/व्यापार

धान का समर्थन मूल्य 117 रुपये बढ़ा, 14 खरीफ फसलों की MSP बढ़ाई गई……..

कैबिनेट ने विपणन सत्र 2024-25 के लिए खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को मंजूरी दी

धान का नया MSP 2,300 रुपए किया गया है जो पिछली MSP से 117 रुपए अधिक है। कपास का नया MSP 7,121 और एक दूसरी किस्म के लिए 7,521 रुपए पर मंजूरी दी है जो पिछली MSP से 501 रुपए ज्यादा है।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने आज विपणन सत्र 2024-25 के लिए सभी आवश्यक खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में वृद्धि को मंजूरी दे दी है।

सरकार ने विपणन सत्र 2024-25 के लिए खरीफ फसलों के एमएसपी में वृद्धि की है, ताकि उत्पादकों को उनकी उपज के लिए लाभकारी मूल्य सुनिश्चित किया जा सके। पिछले वर्ष की तुलना में एमएसपी में सबसे अधिक वृद्धि तिलहन और दालों के लिए की गई है, जैसे नाइजरसीड (983 रुपये प्रति क्विंटल), उसके बाद तिल (632 रुपये प्रति क्विंटल) और तुअर/अरहर (550 रुपये प्रति क्विंटल)।

विपणन सत्र 2024-25 के लिए सभी खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य

रुपये प्रति क्विंटल

फसल न्यूनतम समर्थन मूल्य
2024-25
लागत केएमएस
2024-25
लागत पर मार्जिन (%) एमएसपी
2023-24
2023-24 की तुलना में 2024-25 में एमएसपी में वृद्धि  
अनाज  
           
धान सामान्य 2300 1533 50 2183 117  
ग्रेड ए ^ 2320 2203 117  
जवार हाइब्रिड 3371 2247 50 3180 191  
मालदंडी” 3421 3225 196  
बाजरा 2625 1485 77 2500 125  
रागी 4290 2860 50 3846 444  
मक्का 2225 1447 54 2090 135  
दालें            
तुअर /अरहर 7550 4761 59 7000 550  
मूंग 8682 5788 50 8558 124  

 

फसल एमएसपी
2024-25
लागत* केएमएस
2024-25
लागत पर मार्जिन (%) एमएसपी
2023-24
2023-24 की तुलना में 2024-25 में एमएसपी में वृद्धि
       
उड़द 7400 4883 52 6950 450
तिलहन          
मूंगफली 6783 4522 50 6377 406
सूरजमूखी के बीज 7280 4853 50 6760 520
सोयाबीन (पीला) 4892 3261 50 4600 292
तिल 9267 6178 50 8635 632
नाइजरसीड 8717 5811 50 7734 983
कमर्शियल          
कपास (मीडियम स्टेपल) 7121 4747 50 6620 501
(लॉन्ग स्टेपल) 7521 7020 501

इसमें वह लागत शामिल है, जिसमें सभी भुगतान की गई लागतें शामिल हैं, जैसे कि किराए पर लिए गए मानव श्रम, बुलॉक लेबर/मशीन श्रम, पट्टे पर ली गई भूमि के लिए भुगतान किया गया किराया, बीज, उर्वरक, खाद, सिंचाई शुल्क, औजारों और कृषिगत निर्माण पर मूल्यह्रास, कार्यशील पूंजी पर ब्याज, पंप सेट आदि के संचालन के लिए डीजल/बिजली, विविध व्यय और पारिवारिक श्रम का अनुमानित मूल्य।

धान (ग्रेड ए), ज्वार (मालदंडी) और कपास (लॉन्ग स्टेपल) के लिए लागत डेटा अलग से संकलित नहीं किया गया है।

विपणन सत्र 2024-25 के लिए खरीफ फसलों के लिए एमएसपी में वृद्धि केंद्रीय बजट 2018-19 की घोषणा के अनुरूप है, जिसमें एमएसपी को अखिल भारतीय भारित औसत उत्पादन लागत के कम से कम 1.5 गुना के स्तर पर तय किया गया है। किसानों को उनकी उत्पादन लागत पर अपेक्षित मार्जिन बाजरा (77 प्रतिशत) के मामले में सबसे अधिक होने का अनुमान है, उसके बाद तुअर (59 प्रतिशत), मक्का (54 प्रतिशत) और उड़द (52 प्रतिशत) का स्थान है। बाकी फसलों के लिए, किसानों को उनकी उत्पादन लागत पर मार्जिन 50 प्रतिशत होने का अनुमान है।

हाल के वर्षों में, सरकार इन फसलों के लिए उच्च एमएसपी की पेशकश करके अनाज जैसे दालों व तिलहन और पोषक अनाज/श्री अन्न के अलावा अन्य फसलों की खेती को बढ़ावा दे रही है।

खरीफ विपणन सत्र के अंतर्गत आने वाली 14 फसलों के लिए 2003-04 से 2013-14 की अवधि के दौरान, बाजरा के लिए एमएसपी में न्यूनतम निरपेक्ष वृद्धि 745 रुपये प्रति क्विंटल और मूंग के लिए अधिकतम निरपेक्ष वृद्धि 3,130 रुपये प्रति क्विंटल थी, जबकि 2013-14 से 2023-24 की अवधि के दौरान मक्का के लिए एमएसपी में न्यूनतम निरपेक्ष वृद्धि 780 रुपये प्रति क्विंटल और नाइजरसीड के लिए अधिकतम निरपेक्ष वृद्धि 4,234 रुपये प्रति क्विंटल थी। विवरण अनुलग्नक-I में दिया गया है।

2004-05 से 2013-14 की अवधि के दौरान, खरीफ विपणन सीजन के अंतर्गत आने वाली 14 फसलों की खरीद 4,675.98 लाख मीट्रिक टन (एलएमटी) थी, जबकि 2014-15 से 2023-24 की अवधि के दौरान, इन फसलों की खरीद 7,108.65 एलएमटी थी। वर्षवार विवरण अनुलग्नक-II में दिया गया है।

वर्ष 2023-24 के लिए उत्पादन के तीसरे अग्रिम अनुमान के अनुसार, देश में कुल खाद्यान्न उत्पादन 3288.6 लाख मीट्रिक टन (एलएमटी) होने का अनुमान है, तथा तिलहन उत्पादन 395.9 एलएमटी को छू रहा है। वर्ष 2023-24 के दौरान चावल, दालों, तिलहनों और पोषक अनाज/श्री अन्न तथा कपास का खरीफ उत्पादन क्रमशः 1143.7 एलएमटी, 68.6 एलएमटी, 241.2 एलएमटी, 130.3 एलएमटी तथा 325.2 लाख गांठ होने का अनुमान है।

अनुलग्नक-I रुपये प्रति क्विंटल

फसलें एमएसपी
2003-04
एमएसपी
2013-14
एमएसपी
2023-24
  • .

2003-04 की तुलना में 2013-14 में एमएसपी में वृद्धि

  • .

2013-14 की तुलना में 2023-24 में एमएसपी में वृद्धि

 
अनाज  
A B C D=B-A E=C-B  
धान सामान्य 550 1310 2183 760 873  
ग्रेड ए ^ 580 1345 2203 765 858  
ज्वार हाइब्रिड 505 1500 3180 995 1680  
मालदंडी ए 1520 3225   1705  
बाजरा 505 1250 2500 745 1250  
रागी 505 1500 3846 995 2346  
मक्का 505 1310 2090 805 780  
दालें            
तुअर /अरहर 1360 4300 7000 2940 2700  
मूंग 1370 4500 8558 3130 4058  
उड़द 1370 4300 6950 2930 2650  
तिलहन            
मूंगफली 1400 4000 6377 2600 2377  
सूरजमूखी के बीज 1250 3700 6760 2450 3060  
सोयाबीन (पीला) 930 2560 4600 1630 2040  
तिल 1485 4500 8635 3015 4135  
नाइजरसीड 1155 3500 7734 2345 4234  
    कमर्शियल        
कपास (मीडियम

स्टेपल)

1725 3700 6620 1975 2920  
(लॉन्ग स्टेपल)” 1925 4000 7020 2075 3020  

अनुलग्नक-II

खरीफ फसलों की खरीद 2004-05 से 2013-14 और 2014-15 से

एलएमटी में

फसलें 2004-05 से 2013-14 2014-15 से 2023-24  
अनाज  
A B  
धान 4,590.39 6,914.98  
ज्वार 1.92 5.64  
बाजरा 5.97 14.09  
रागी 0.92 21.31  
मक्का 36.94 8.20  
दालें      
तुअर /अरहर 0.60 19.55  
मूंग 0.00 1  
उड़द 0.86 8.75  
तिलहन      
मूंग 3.45 32.28  
सूरजमूखी के बीज 0.28    
सोयाबीन (पीला) 0.01 1.10  
तिल 0.05 0.03  
नाइजरसीड 0.00 0.00  
कमर्शियल      
कपास 34.59

 

63.41  
कुल 4,675.98 7,108.65  

 

𝐁𝐇𝐈𝐒𝐌 𝐏𝐀𝐓𝐄𝐋

𝐄𝐝𝐢𝐭𝐨𝐫 𝐚𝐭 𝐇𝐈𝐍𝐃𝐁𝐇𝐀𝐑𝐀𝐓 𝐋𝐢𝐯𝐞 ❤
error: Content is protected !!