छत्तीसगढ़

आदिवासी युवती से गैंगरेप करने का फरार अभियुक्त को पुलिस ने गढ़वा (झारखंड) से धर दबोचा….

जशपुर : दिनांक 04.09.2023 को इम्तियाज अंसारी एवं सद्दाम खान ने बलरामपुर जिले की एक 21 वर्षीय युवती को बहला-फुसलाकर पण्डरापाठ चौकी क्षेत्र स्थित दनगरी वाॅटरफाल दिखाने ले चलो कहकर वे सभी दगनरी वाॅटरफाल गये, वाॅटरफाल में घुमने के दौरान वे दोनों वहां युवती को जबरदस्ती मारपीट कर जबरदस्ती खींचते हुये झाड़ी में ले जाकर बारी-बारी से दुष्कर्म की घटना को अंजाम देकर युवती को वहां अकेला छोड़कर भाग गये। पीड़ित युवती की रिपोर्ट पर दोनों अभियुक्तों के विरूद्ध चौकी पण्डरापाठ में धारा 366, 376, 376(डी), 294, 34 भा.द.सं. एवं 3(2-V) एससी/एसटी एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। पुलिस द्वारा उक्त दोनों आरोपियों का पता-तलाश किया जा रहा था।

विवेचना के दौरान सायबर सेल एवं मुखबीर से सूचना मिली कि सद्दाम खान बिहार राज्य के बेगुसराय थाना अंतर्गत ग्राम फुलवरिया क्षेत्र में छुपा हुआ है, इस सूचना पर पुलिस टीम द्वारा बेगुसराय जाकर पतासाजी कर दिनांक 10.09.2023 को अभियुक्त सद्दाम खान उम्र 25 साल निवासी मस्जिद रोड कुसमी जिला बलरामपुर को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है। प्रकरण का दूसरा अभियुक्त इम्तियाज अंसारी लंबे समय से फरार चल रहा था।

पुलिस अधीक्षक जशपुर श्री शशि मोहन सिंह द्वारा प्रकरण के फरार अभियुक्त इम्तियाज अंसारी की गिरफ्तारी हेतु श्री भावेश समरथ के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन कर पतासाजी हेतु लगाया गया था एवं लगातार माॅनीटरिंग की जा रही थी। विवेचना के दौरान मुखबीर एवं सायबर सेल से सूचना मिली कि फरार अभियुक्त इम्तियाज अंसारी ग्राम बाना जिला गढ़वा (झारखंड) में छिपा हुआ है, इस सूचना पर तत्काल पुलिस टीम को रवाना किया गया, टीम द्वारा अथक पतासाजी उपरांत मिलने पर अभियुक्त इम्तियाज अंसारी को वहां से अभिरक्षा में लेकर जशपुर लाया गया। पूछताछ में इम्तियाज अंसारी ने अपने अन्य साथी सद्दाम खान के साथ उक्त अपराध को घटित करना स्वीकार किया है। अभियुक्त इम्तियाज अंसारी उम्र 32 साल निवासी कुसमी जिला बलरामपुर (छ.ग.) के विरूद्ध अपराध सबूत पाये जाने पर उसे दिनांक 07.06.2024 को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है।

पुलिस अधीक्षक जशपुर श्री शषि मोहन सिंह द्वारा कहा गया है कि – “इम्तियाज अंसारी अत्यंत शातिर किस्म का व्यक्ति है, वह बार-बार अपना ठिाकाना बदलता रहता था, उसकी गिरफ्तारी हेतु विशेष टीम को लगाया गया था, गिरफ्तारी में सम्मिलित सभी अधि./कर्मचारियों को नगद ईनाम से पुरष्कृत किया गया है।

 

𝐁𝐇𝐈𝐒𝐌 𝐏𝐀𝐓𝐄𝐋

𝐄𝐝𝐢𝐭𝐨𝐫 𝐚𝐭 𝐇𝐈𝐍𝐃𝐁𝐇𝐀𝐑𝐀𝐓 𝐋𝐢𝐯𝐞 ❤
error: Content is protected !!