छत्तीसगढ़मौसम समाचार

छत्तीसगढ़ मौसम अपडेट : दक्षिण पश्चिम मानसून ने पकड़ी रफ्तार, 48 घंटे में बढ़ेगा बारिश का दायरा, गिरेगा तापमान…

छत्तीसगढ़ मौसम अपडेट : दक्षिण पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने की रप्तार अब काफी अच्छी हो रही है और अगले दो से तीन दिनों में प्रदेश के अन्य क्षेत्रों में भी फैलने की उम्मीद है। मौसम विभाग के अनुसार रविवार 16 जून से प्रदेश में बारिश का दायर भी बढ़ेगा और अधिकतम तापमान में भी गिरावट आएगी।

बारिश होने व तापमान गिरने से मौसम में भी ठंडकता आएगी। गुरुवार को प्रदेश भर लखनपुर (कोरबा) सर्वाधिक गर्म रहा, कृषि विज्ञान केंद्र लखनपुर का अधिकतम तापमान 43.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं दूसरी ओर मुंगेली, पथरिया, बिलासपुर आदि क्षेत्रों में बारिश भी हुई।

गुरुवार को रायपुर सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों में आंशिक रूप से बादल छाए रहे। अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी के कारण उमस भी काफी ज्यादा रही, हालांकि देर शाम कई क्षेत्रों में हल्की बारिश भी हुई। रायपुर का अधिकतम तापमान 41.1 डिग्री और न्यूनतम तापमान 29.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम तापमान सामान्य से 2.1 डिग्री और न्यूनतम तापमान सामान्य से 2.6 डिग्री ज्यादा रहा।

मौसम विज्ञानियों के अनुसार आने वाले दो दिन तो सरगुजा संभाग के सभी जिलों में लू चलने के आसार है, लेकिन प्रदेश के बाकी क्षेत्रों में अंधड़ के साथ बारिश होगी। मौसम विभाग के अनुसार इस वर्ष देश भर के साथ प्रदेश में भी सामान्य से ज्यादा बारिश की उम्मीद है।

मौसम विशेषज्ञ एचपी चंद्रा ने बताया कि एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती परिसंचरण मध्य बिहार के ऊपर 0.9 किमी ऊंचाई तक फैला है। शुक्रवार को कुछ क्षेत्रों में हल्की बारिश के आसार है। दो से तीन दिनों में प्रदेश में बारिश का दायरा भी बढ़ेगा।

बिलासपुर मौसम अपडेट : गर्मी से सब व्याकुल, पारा गिरा पर उमस ने किया बेहाल, अधिकतम तापमान 41.6 डिग्री सेल्सियस

न्यायधानी में प्रचंड गर्मी थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक दिन पहले तापमान 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जो 24 घंटों में गिरकर 41 डिग्री पर आ गया। तापमान में गिरावट दर्ज की गई है, लेकिन गर्मी में कोई कमी नहीं आई है। भीषण गर्मी और तपती गर्म हवाओं ने लोगों को परेशान कर रखा है।

गुरुवार को भीषण गर्मी का अहसास हुआ। तेज गर्म हवाओं के साथ लू जैसी स्थिति रही। दरसल एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती परिसंचरण मध्य बिहार के ऊपर 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। जिसके प्रभाव से अभी गर्मी का असर बना हुआ है।

इधर मानसून दक्षिण छत्तीसगढ़ में प्रवेश कर धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है। माना जा रहा है कि यह एक दो दिनों में अपना असर दिखाएगा। मौसम विशेषज्ञों ने 17 जून के बाद बंपर वर्षा की उम्मीद भी कर रहे हैं। दिनभर गर्मी से लोग फिलहाल परेशान है। प्रथम पखवाड़े में अब तक दो बार जोरदार वर्षा हो चुकी है फिर भी गर्मी से राहत नहीं मिली है।

मानसून की आस

गर्मी के इस प्रचंड दौर के बीच मानसून के करीब होने की खबर से कुछ राहत की उम्मीद है। मौसम विशेषज्ञ अब्दुल सिराज खान के अनुसार, 17 जून के बाद तेज वर्षा की संभावना है। बता दें कि आठ जून को शहर में 32 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई थी, और एक दिन पहले भी 16 मिलीमीटर पानी गिरा था। हालांकि, इन बारिशों ने गर्मी कम करने के बजाय उमस बढ़ा दिया है।

उमस का प्रकोप

वर्षा के बावजूद उमस की स्थिति ने लोगों की परेशानी और बढ़ा दी है। भीषण गर्मी और उमस के बीच जनता व्याकुल हो चुकी है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने लोगों को पर्याप्त पानी पीने, हल्के कपड़े पहनने और घर के अंदर रहने की सलाह दी है। सेहत पर इसका बुरा असर पड़ रहा है।

आगे का मौसम

मौसम वेधशाना के मौसम विज्ञानी डा.एचपी चंद्रा के अनुसार, आने वाले दिनों में वर्षा की संभावना है। इससे शायद गर्मी और उमस से थोड़ी राहत मिले। प्रदेश में 14 जून को एक दो स्थानों पर हल्की वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। एक दो स्थानों में गरज चमक के साथ अंधड़ चलने तथा वज्रपात होने की भी संभावना है। अधिकतम तापमान में कोई विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है।

प्रमुख शहरों का तापमान/शहर अधिकतम न्यूनतम

  • बिलासपुर 41.6 25.0
  • पेंड्रारोड 40.0 26.2
  • अंबिकापुर 42.0 27.9
  • माना 41.2 30.2
  • जगदलपुर 31.8 24.9

𝐁𝐇𝐈𝐒𝐌 𝐏𝐀𝐓𝐄𝐋

𝐄𝐝𝐢𝐭𝐨𝐫 𝐚𝐭 𝐇𝐈𝐍𝐃𝐁𝐇𝐀𝐑𝐀𝐓 𝐋𝐢𝐯𝐞 ❤
error: Content is protected !!