छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ मौसम अपडेट : नौतपा से पहले सूर्यदेव ने दिखाए तीखे तेवर, पारा पहुंचा 44 डिग्री, जानें आज कैसा रहेगा मौसम…

छत्तीसगढ़ मौसम अपडेट : नवतपा 2024: मौसम का मिजाज एकाएक बदल गया है। कुछ दिनों की वर्षा की गतिविधियों के बाद अब वापस से सूर्य की तपिश ने लोगों को परेशान करना शुरू कर दिया है। राजधानी सहित मध्य छत्तीसगढ़ में तापमान क्रमिक रूप से बढ़ता ही जा रहा है। नौतपा से पहले सूर्य ने अपना प्रकोप भी दिखाना शुरू कर दिया है और डोंगरगढ़ में पारा 44 डिसे तापमान में ही प्रदेश तपने लगा।

मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा के अनुसार अगले चार दिनों में अधिकतम तापमान में कोई विशेष परिवर्तन होने के आसार नहीं दिख रहे हैं। वहीं, बुधवार को प्रदेश के एक दो स्‍थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने के आसार हैं, जबकि एक दो स्थानों पर गरज-चमक के साथ वज्रपात होने और अंधड़ चलने की भी संभावना जताई जा रही है।

इसके अलावा अगले दो दिनों के बाद भी एक दो स्थानों पर वर्षा होने के साथ ही गरज-चमक के साथ अंधड़ चलने एवं वज्रपात होने के भी संकेत दिए जा रहे हैं। इसी बीच उत्तर और मध्य छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों में हल्की वर्षा देखने को मिली।

उतार चढ़ाव भरा है अधिकतम तापमान

मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार अधिकतम तापमान बिलासपुर में 2.6 डिग्री, जगलदपुर में 1.8 डिग्री, जबकि माना में सामान्य से 1.2 डिग्री सेल्सियस कम है। वहीं, पेंड्रा रोड में यह एक डिग्री, जबकि दुर्ग में 0.2 डिग्री सेल्सियस तक अधिक है।

न्यूनतम पारा बिलासपुर में औसत से अधिक

इसके अलावा न्यूनतम पारा सिर्फ बिलासपुर में ही सामान्य औसत से 1.1 डिग्री सेल्सियस अधिक है, जबकि दुर्ग में यह 3.9 डिग्री, माना में 2.2 डिग्री, पेंड्रा रोड में 1.2 डिग्री और जगदलपुर में यह 0.5 डिग्री सेल्सियस तक कम है।

बिलासपुर मौसम अपडेट : न्यायधानी बिलासपुर में भीषण गर्मी छत में पानी की टंकी व तप रही दीवारें, गर्मी बढ़ेगी,हल्की वर्षा का भी अनुमान, पारा 41.2 डिग्री….नल से आ रही गर्म पानी

न्यायधानी में गर्मी का असर अब तेज हो रहा है। मंगलवार को दिन का अधिकतम तापमान 41.2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। एक सप्ताह के भीतर यह सर्वाधिक तापमान था। तेज धूप के कारण दोपहर को सड़कों पर सन्नाटा छाया रहा। घर की छत, पानी की टंकी और दीवारें तप रही थी। नल से गर्म पानी आने लगा। शाम को ठंडी हवाएं चली। हल्की बूंदाबांदी भी हुई जिसे मौसम सुहाना हो गया।

मौसम वेधशाला के मौसम विज्ञानी डा.एचपी चंद्रा के मुताबिक एक द्रोणिका हरियाणा से पूर्वी बंगलादेश तक 0.9 किमी ऊंचाई तक विस्तारित है। एक उपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती परिसंचरण तटीय आंध्र प्रदेश के ऊपर 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। एक उपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती परिसंचरण दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी के उपर 3.1 किमी ऊंचाई तक विस्तारित है।

यह उत्तर पूर्व की आगे बढ़ते हुए 22 मई को एक निम्न दाब के क्षेत्र के रूप में मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर बनने की संभावना है। यह इसी दिशा में आगे बढ़ते हुए मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर अवदाब में परिवर्तित होने की संभावना है। इसके और ज्यादा प्रबल होने का अनुमान है। इधर न्यायधानी में दिनभर गर्मी के कारण लोग बेहाल रहे। छांव ढूंढते नजर आए। आम जनजीवन अस्त व्यस्त नजर आया।

गर्मी बढ़ेगी,हल्की वर्षा का भी अनुमान

प्रदेश में 22 मई को एक दो स्थानों पर हल्की वर्षा होने अथवा गरज-चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। एक दो स्थानों पर गरज चमक के साथ अंधड़ चलने तथा वज्रपात होने की संभावना है। अधिकतम तापमान में कोई विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है किंतु हल्की वृद्धि का दौर बने रहने की संभावना है।

प्रमुख शहरों का तापमान/शहर अधिकतम न्यूनतम

  1. बिलासपुर 41.2 28.4
  2. पेंड्रारोड 40.6 24.6
  3. अंबिकापुर 39.9 25.4
  4. माना 41.1 26.2
  5. जगदलपुर 36.4 24.1

𝐁𝐇𝐈𝐒𝐌 𝐏𝐀𝐓𝐄𝐋

𝐄𝐝𝐢𝐭𝐨𝐫 𝐚𝐭 𝐇𝐈𝐍𝐃𝐁𝐇𝐀𝐑𝐀𝐓 𝐋𝐢𝐯𝐞 ❤
error: Content is protected !!