छत्तीसगढ़

शादी वाले घर से वापस आ रही नाबालिग लड़की का अपहरण कर गैंगरेप करने वाले सभी 6 आरोपी हुये गिरफ्तार…

जशपुर जिले के थाना सन्ना क्षेत्र में निवासरत एक पिता ने दिनांक 05.06.2024 को थाना में सूचना देकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि दिनांक 04.06.2024 की रात्रि में उसके गांव में एक व्यक्ति के घर में शादी कार्यक्रम हो रहा था, वहां पर कार्यक्रम में प्रार्थिया की 13 वर्षीय नाबालिग अपने एक अन्य 13 वर्षीय सहेली के साथ गई थी, प्रार्थिया की सहेली शंकरगढ़ (बलरामपुर) जिला से मेहमानी में आई हुई थी। प्रार्थी की पुत्री एवं उसकी सहेली साथ में उसी रात लगभग 12 बजे पैदल अपने घर वापस आ रहे थे, कि रास्ते में उनसे मनोज कुमार मिला जो अपने अन्य 02 नाबालिग साथियों के साथ नशे में वहां खड़ा था, वे तीनों पीड़िता की सहेली जो शंकरगढ़ (बलरामपुर) से आई थी, उसे पकड़ने लगे तो वह डरकर हाथ छुड़ाकर वहां से भाग गई। वे तीनों लड़के शराब के नशे में थे एवं प्रार्थी की पुत्री को वहां उसे जबरदस्ती खींचते हुये पकड़कर जंगल की ओर ले जा रहे थे, उसी दौरान गांव के 02 लड़के जो मिर्ची खेती की रखवाली करने जा रहे थे, उनके द्वारा लड़की को ले जाने से मना करने पर मनोज कुमार एवं उनके 02 साथियों ने उनके साथ भी हाथ-मुक्का से मारपीट कर धमकी दिये, फिर वे तीनों नाबालिग लड़की को जंगल में ले जाकर जबरदस्ती बारी-बारी से दुष्कर्म किये, उसके बाद वहां प्रवीत पैंकरा अपने अन्य 02 नाबालिग साथियों के साथ कुछ देर में आया फिर वे भी बारी-बारी से नाबालिग से दुष्कर्म किये। प्रार्थिया की पुत्री प्रातः 03 बजे लगभग उन सब के चंगुल से छुटकर रोते हुये वापस घर आई एवं अपने परिजनों को बताई।

मामले में संवेदनशीलता को देखते हुये पुलिस अधीक्षक श्री शशि मोहन सिंह द्वारा आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु एसडीओपी बगीचा श्रीमती निमिषा पाण्डेय के नेतृत्व में एक विविशेष टीम का गठन किया गया, जो टीम द्वारा निर्देशानुसार रात भर में पतासाजी कर आरोपीगण 1- प्रवीत पैंकरा उम्र 21 साल, 2-मनोज कुमार उम्र 24 साल निवासी सन्ना क्षेत्र को दिनांक 05.06.2024 को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है, घटना में सम्मिलित शेष 04 अपचारी बालक उम्र क्रमशः 16 वर्ष 02 माह, 17 वर्ष, 17 वर्ष एवं 17 वर्ष 04 माह से घटना के संबंध में पूछताछ उपरांत बाल संप्रेषण गृह भेजा

पुलिस अधीक्षक जशपुर श्री शशि मोहन सिंह द्वारा कहा गया है कि “प्रकरण की संवदेनशीलता को देखते हुये 03 अलग-अलग पुलिस टीम पतासाजी हेतु रवाना किया गया था, टीम द्वारा आरोपियों को अलग-अलग स्थानों से सुबह तक गिरफ्तार किया गया है, गिरफ्तारी में सम्मिलित सभी अधि./कर्मचारियों को नगद ईनाम से पुरष्कृत किया गया है।

𝐁𝐇𝐈𝐒𝐌 𝐏𝐀𝐓𝐄𝐋

𝐄𝐝𝐢𝐭𝐨𝐫 𝐚𝐭 𝐇𝐈𝐍𝐃𝐁𝐇𝐀𝐑𝐀𝐓 𝐋𝐢𝐯𝐞 ❤
error: Content is protected !!