छत्तीसगढ़

विश्वविद्यालय की लापरवाही का खमियाजा भुगत रहे बीई अंतिम सेमेस्टर के छात्र, करीब 10% छात्रों का परीक्षा परिणाम अब तक नहीँ कर सका जारी..

आगे की पढ़ाई के लिए वंचित हो रहे ये छात्र ब्यवस्था की खामियों के चलते खामियाजा भुगत रहे छात्र

रायपुर।कोरोना महामारी के कारण इंजीनियरिंग के छात्रों का बीई अंतिम सेमेस्टर का परीक्षा आनलाइन आयोजित किया गया।जिसका परीक्षा परिणाम 9 नवम्बर को प्रदेश की एकमात्र तकनीकी विश्वविद्यालय छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय भिलाई द्वारा जारी किया गया, जिसमें विश्वविद्यालय की लापरवाही के चलते बहुत सारे छात्रों का परिणाम ही छूट गया ।जब इसकी शिकायत हुई तब कही सुधि आयी।इंजीनियरिंग कॉलेजों और छात्रों की ओर से जब विश्वविद्यालय तक यह बात पहुंची तब शेष बचे छात्रों का भी परिणाम शीघ्र जारी कर देने का भरोसा दिलाया गया मगर आजकल करते करते लगभग डेढ़ महिना होने को आये अभी तक परिणाम जारी नही हुआ है।जबकि बहुत सारे महाविद्यालय कब की जानकारी भेज चुके वही खुद छात्र भी कोरोना काल में भी बार बार कालेज और बिश्वविद्यालय के बीच पिस रहें हैं।हालात के मारे इन छात्रों में अब दिनोदिन आक्रोश बढ़ता जा रहा।आखिर परीक्षा परिणाम के बगैर आगे की पढ़ाई खासकर जो एमएससी,एमए,बीएड करना चाहते हैं वे समय निकल जाने से इससे वंचित हो गए।वही अभी पीएससी का भी नोटिफिकेशन जारी हो चूका है इससे भी कहीं वंचित न हो जाये यह भय सताने लगी है।

ऐसा नही की इन छात्रों ने अपनी बात कालेज प्रबंधन,विश्वविद्यालय तक न पहुंचायी हो।प्रदेश सरकार के मुखिया से लेकर हर तरफ गुहार लगा चुके हैं।मगर फिर भी अब तक परिणाम नही आने से अब मजबूरन आंदोलन और न्यायालय की शरण जाने की रणनीति बना रहे हैं।
नोट – सार्वजनिक व भीड़भाड़ वाले स्थानों पर मास्क का उपयोग अवश्य करें व दो गज की दूरी बनाये रखें

𝐓𝐞𝐚𝐦 𝐚𝐭 𝐇𝐈𝐍𝐃𝐁𝐇𝐀𝐑𝐀𝐓 𝐋𝐢𝐯𝐞

𝐓𝐞𝐚𝐦 𝐚𝐭 𝐇𝐈𝐍𝐃 𝐁𝐇𝐀𝐑𝐀𝐓 𝐋𝐢𝐯𝐞❤
error: Content is protected !!