छत्तीसगढ़मौसम समाचार

मौसम अपडेट : छत्‍तीसगढ़ में गर्मी के बीच बदला मौसम, आज छाए रहेंगे बादल, अंधड़ के साथ बिजली गिरने की संभावना…

CG Weather Update: छत्‍तीसगढ़ में अब मौसम का मिजाज बदलने लगा है और तापमान में गिरावट के साथ ही कुछ क्षेत्रों में हल्की बारिश भी हुई। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार को भी प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में बादल छाने के साथ ही अंधड़ व बिजली गिरने की भी संभावना है, कुछ क्षेत्रों में हल्की बारिश भी होगी। विभाग का कहना है कि अब प्रदेश में दक्षिण पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने की गतिविधि बड़ी तेजी से होने लगी है तथा बस्तर क्षेत्र में आठ जून तक मानसून प्रवेश कर सकता है।

मंगलवार सुबह से ही रायपुर सहित प्रदेश भर में मौसम शुष्क रहा। अधिकतम तापमान में गिरावट के साथ ही कुछ क्षेत्रों में हल्की बारिश भी हुई। प्रदेश भर में मुंगेली सर्वाधिक गर्म रहा,एडब्ल्यूएस मुंगेली का अधिकतम तापमान 43.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

रायपुर का अधिकतम तापमान 42.2 डिग्री रहा,जो सामान्य से 0.2 डिग्री कम है। मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया कि एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती परिसंचरण पूर्वी उत्तरप्रदेश के ऊपर 1.5 किमी ऊंचाई तक फैला हुआ है। इसके प्रभाव से बुधवार को प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में अंधड़ चलने व हल्की बारिश की उम्मीद है।

बिलासपुर मौसम अपडेट : मंगल को नौतपा के बाद फिर तपा सूरज, पारा 43 डिग्री, बुध की सुबह आसमान पर बादलों का डेरा

नौतपा खत्म होने के बाद भी सूर्य का तेवर जारी है। मंगल को गर्म हवाओं के साथ जबरदस्त गर्मी कर अहसास हुआ। दिनभर लोग घरों में कैद रहे। एसी-कूलर की ठंडी हवा से निकलते ही धूप चुभ रही थी। दिन का अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आसपास इलाकों में बूंदाबांदी भी हुई, जिसके कारण शाम को उमस लगने लगी। मौसम वेधशाला के मौसम विज्ञानी डा.एचपी चंद्रा के मुताबिक एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती परिसंचरण पूर्वी उत्तरप्रदेश के ऊपर 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है।

प्रदेश में पांच जून को कुछ स्थानों पर हल्की वर्षा होने या गरज-चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। एक दो स्थानों में गरज चमक के साथ अंधड़ चलने तथा वज्रपात होने की भी संभावना है। अधिकतम तापमान में हल्की उतार-चढ़ाव की स्थिति बने रहने की संभावना है। बता दें कि इन दिनों प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में गर्मी का प्रकोप बढ़ता जा रहा है, जिससे लोग हलकान हो रहे हैं। पारा अब भी 43 से 44 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना हुआ है।

इसके कारण जनजीवन प्रभावित हो रहा है। हीटवेव की वजह से स्वास्थ्य समस्याओं में भी इजाफा हुआ है। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, अत्यधिक गर्मी से बचने के लिए कुछ महत्वपूर्ण उपाय अपनाए जा सकते हैं। सबसे पहले, धूप में बाहर निकलने से बचें और यदि बाहर जाना पड़े तो हल्के, ढीले और हल्के रंग के कपड़े पहनें। सिर को ढककर रखें और सनस्क्रीन का उपयोग करें।

पर्याप्त मात्रा में पानी पीना आवश्यक है ताकि शरीर में जल की कमी न हो। तरल पदार्थों जैसे नींबू पानी, छाछ और नारियल पानी का सेवन करें। ठंडी और ताजगी देने वाले फलों का सेवन भी लाभदायक है। घर के अंदर रहने पर पंखे, कूलर या एसी का उपयोग करें। घर की खिड़कियों और दरवाजों को ढककर रखें ताकि गर्मी अंदर न आ सके।

सुबह चली ठंडी हवा, दिन में गर्मी

मौसम का मिजाज कुछ ऐसा था कि मंगल की सुबह ठंडी हवा चली। जिसका आनंद लेने लोग घरों से बाहर निकले। सुबह मार्निंग वाक करने वाले भी खुश नजर आए। दिन चढ़ने के साथ मौसम बदल गया। दोपहर को प्रचंड गर्मी का अहसास हुआ। शाम को उमस रही। हालांकि रात में फिर से ठंडी हवा चलने से लोगों ने राहत महसूस की।

प्रमुख शहरों का तापमान/शहर अधिकतम न्यूनतम 

  1. बिलासपुर 43 28.4
  2. पेंड्रारोड 40.2 24.2
  3. अंबिकापुर 39 22
  4. माना 41.7 30
  5. जगदलपुर 36.4 25.1

𝐁𝐇𝐈𝐒𝐌 𝐏𝐀𝐓𝐄𝐋

𝐄𝐝𝐢𝐭𝐨𝐫 𝐚𝐭 𝐇𝐈𝐍𝐃𝐁𝐇𝐀𝐑𝐀𝐓 𝐋𝐢𝐯𝐞 ❤
error: Content is protected !!